विश्वास पर शायरी - पल-पल से बनता है एहसास,एहसास से बनता है विश्वास. विश्वास से बनते हैं रिश्ते,और रिश्ते से बनता है कोई खास..!
विश्वास पर शायरी - जब तक तुम्हे अपने पर विश्वास नहीं हैं तो तुम भगवान पर भी विश्वास नहीं कर सकते हैं….!!
विश्वास पर शायरी - जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक..भागवान हो या भाग्य दोनो आप पर विश्वास नहीं करते…!!
विश्वास पर शायरी - पल-पल से बनता है एहसास,एहसास से बनता है विश्वास. विश्वास से बनते हैं रिश्ते,और रिश्ते से बनता है कोई खास..!
विश्वास पर शायरी - जब तक तुम्हे अपने पर विश्वास नहीं हैं तो तुम भगवान पर भी विश्वास नहीं कर सकते हैं….!!
विश्वास पर शायरी - जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक..भागवान हो या भाग्य दोनो आप पर विश्वास नहीं करते…!!
विश्वास पर शायरी - तुम्हारी शायरी बड़ी है फाइरी, दिल करता है जल जाए शायरी वाली डायरी..!!
विश्वास पर शायरी - दूर है तू मगर मैं तेरे पास हूँ,दिल है गर तू तो दिल का मैं एहसास हूँ.प्रार्थना या इबादत या पूजा कोई,भावना है अगर तू मैं विश्वास हूँ..!